ब्लॉग blog



दोस्तों ब्लॉग के बारे में इससे सरल भाषा में कोई भी नहीं बता सकता है। 

रुपरेखा 
  • ब्लॉग किसे कहते है what is blog
  • ब्लॉगिंग किसे कहते है what is blogging
  • ब्लॉगिंग के फायदे क्या है advantage of blogging
  • ब्लॉग कितने तरह के होते है how many type of blogs

ब्लॉग blog

ब्लॉग का शाब्दिक अर्थ meaning of blog होता है किसी विषय का संपूर्ण ज्ञान या चिट्ठा। यह ज्ञान किसी व्यक्ति, स्थान, वस्तु, विषय या ऐसी परिस्थिति जो आपके ऊपर गुजरी हो से सम्बंधित हो सकता है। या यह ज्ञान आपने देखकर, सुनकर, पढ़कर या महसूस करके प्राप्त किया हो। इस ज्ञान का आपके पास लिखित में या मन में रिकॉर्ड होता है।

किसी कंपनी की बेलैंस शीट उस कंपनी के अकाउंट का ब्लॉग या चिट्ठा कहलाती है। आपकी पर्सनल डायरी को भी आपका पर्सनल ब्लॉग कह सकते है। किसी व्यक्ति के ज्ञान को उस व्यक्ति का ब्लॉग भी कह सकते है।

देखकर, सुनकर, पढ़कर, महसूस करके एवं परिस्थितियों के अनुभवों से प्राप्त ज्ञान को ब्लॉग कहते है। 

ब्लॉगिंग किसे कहते है what is blogging

दोस्तों आपके ज्ञान व अनुभवो को दुसरो के साथ शेयर करना ब्लॉगिंग कहलाता है। आप अपने ज्ञान को या तो आपके परिवार, आसपास के क्षेत्र या स्कूल में शेयर कर सकते है। या इंटरनेट के द्वारा ब्लॉग वेबसाइट बनाकर सारी दुनिया से शेयर कर सकते है। 

अब बात आती है, के इंटरनेट से सम्बंधित क्षेत्र में ब्लॉग किसे कहते है।

दोस्तों हमारे ज्ञान को वेबसाइट पर चित्र व लेखन द्वारा अच्छे से पढ़ने लायक जमाकर रखना ब्लॉग कहलाता है। जिसको सारी दुनिया के लोग आसानी से देख,पढ़ व समझ सके। ब्लॉग में कई विषय व लेख article हो सकते है।

ब्लॉग पर लिखे गए लेखों को ब्लॉग की भाषा में पोस्ट (डाक) कहते है। जिस प्रकार पोस्टमेन समय-समय पर पोस्ट लाता है, उसी प्रकार हम भी समय-समय पर ब्लॉग में नए-नए लेख लिखते है, अर्थात पोस्ट डालते है। हम जो भी पोस्ट लिखते है, वह हमारे ब्लॉग पर आने वाले लोग पढ़ते है। 

ब्लॉग वेबसाइट द्वारा हमारे अर्जित किये हुए ज्ञान को सारी दुनिया से शेयर करना ब्लॉगिंग कहलाता है

ब्लॉग वेबसाइट बनाने से क्या फायदा 

दोस्तों यदि आप अपने ज्ञान को दूसरे के साथ शेयर करना चाहते हो तो ब्लॉग वेबसाइट बनाना आपके लिए बहुत फायदेमंद है।
मान लीजिये आप कोई टॉपिक अपने दोस्तों के ग्रुप में बता रहे है। अब हो सकता है, ग्रुप में बीस में से पंद्रह लोगो को वह टॉपिक अच्छा न लगे, या उनके काम का न हो। तो वे आपके ग्रुप में साथ खड़े होकर बोर हो जाएंगे। हो सकता है, ग्रुप में कोई टॉपिक किसी के काम का हो, किन्तु वही टॉपिक किसी अन्य के काम या इंट्रेस्ट का न हो।

ब्लॉग बनाने के यह फायदे है advantage of blog
  • ब्लॉग वेबसाइट द्वारा आपने ज्ञान को छोटे ग्रुप की जगह पूरी दुनिया में शेयर कर सकते है। 
  • ग्रुप में टॉपिक को शेयर करने के लिए हर बार बोलना पड़ता है, ब्लॉग वेबसाइट में नहीं।  
  • ब्लॉग पर किसी टॉपिक को बार-बार पोस्ट करने की जरुरत नहीं होती है। 
  • जिसको जिस टॉपिक की आवश्यकता हो वह स्वयं ही उसी टॉपिक या पोस्ट को पढ़ सकता है। 
  • किसी टॉपिक पर सिर्फ एक समय देना होता है, इसलिए ज्यादा अच्छे से लिख सकते है। 
  • आपके ज्ञान को पूरी दुनिया में शेयर कर सकते है। 
ब्लॉग कितने तरह के होते है how many type of blogs
ब्लॉग को उसके बनाने के कारण एवं ब्लॉग का विषय के अनुसार निम्न भागों में बांटा जा सकता है। 

ब्लॉग बनाने का कारण 
  • शौक Hobby 
  • अपने ज्ञान एवं अनुभवों को दुसरो से शेयर करना 
  • पैसे कमाने के लिए ब्लॉग बनाना 
विषय विशेष का ब्लॉग 

ऐसे ब्लॉग जिनमे किसी एक विषय की संपूर्ण जानकारी हो। 
जैसे:- फोटोग्राफी, यात्रा, फ़ूड, स्वास्थ्य आदि

अन्य टॉपिक 
ब्लॉग कैसे बनाये how make a blog
ब्लॉग से पैसे कैसे कमाते है how to make money from blog

दोस्तों www.googleguru.in मेरा पहला ब्लॉग है।

दोस्तों यदि मेरी यह पोस्ट अच्छी लगे या इसमें कोई कमी हो तो कमेंट करके जरूर बताये।